Meri Fasal Mera Byora Registration Kaise Check Kare?

2399

Meri Fasal Mera Byora Registration Kaise Check Kare?

How to Check Meri Fasal Mera Byora Registration?

क्या आप जानना चाहते है की, मेरी फसल मेरा ब्योरा (Meri Fasal Mera Byora) हिन्दी मे कैसे चेक करे? तो आप बिलकुल सही जगह पे आए है| मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पंजीकरण | हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा फॉर्म | मेरी फसल मेरा ब्योरा हरियाणा ऑनलाइन पोर्टल | मेरी फसल हरियाणा पंजीकरण | मेरी फसल मेरा ब्योरा ऑनलाइन आवेदन पत्र पीडीएफ डाउनलोड करें

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं। इस लेख को पढ़कर आपको हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी मिल जाएगी। जैसे हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना क्या है?

इसके लाभ, उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो दोस्तों अगर आप हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से संबंधित पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको यह लेख पढ़ना होगा। हमारे अंत तक। इस लेख के माध्यम से हमने आपके साथ हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से जुड़ी पूरी जानकारी साझा की है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना (Meri Fasal Mera Byora)

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा शुरू की गई है। इस योजना के तहत हरियाणा के किसान अपनी फसल का पूरा विवरण ऑनलाइन दर्ज करा सकते हैं। हरियाणा मेरा फसल मेरा ब्योरा पोर्टल के माध्यम से, सरकार यह सुनिश्चित करेगी कि राज्य सरकार द्वारा प्रदान किया जाने वाला बीमा कवर, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल मुआवजा आदि किसानों को प्रदान किया जाए।

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको किसी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। आपको बस मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के आधिकारिक पोर्टल पर जाना है। इस पोर्टल के माध्यम से हरियाणा के किसानों को एक ही स्थान पर सभी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

यह भी पढे: ivf full form in hindi

मेरी फसल मेरा विवरण खरीफ सीजन पंजीकरण 2021

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि खरीफ का मौसम शुरू हो गया है। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार द्वारा Meri Fasal Mera Byora पोर्टल पर खरीफ फसलों का पंजीकरण शुरू किया गया है। वे सभी किसान जो खरीफ फसल की खेती कर रहे हैं, पोर्टल पर अपनी फसल का विवरण दर्ज कर सकते हैं। इस बार पोर्टल पर 20 से अधिक फसलों का पंजीयन हो रहा है। यह जानकारी हिसार की उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने दी। इस पोर्टल के माध्यम से यह सुनिश्चित किया जाता है कि फसल बीमा कवर, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल मुआवजा और अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ किसानों तक पहुंच रहा है या नहीं।

बाजरे की फसल का पंजीकरण भी जल्द शुरू होगा

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना (Meri Fasal Mera Byora Registration) के तहत आवेदन करने के लिए किसानों को अब किसी भी सरकारी कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं है। किसान सीएससी केंद्र के माध्यम से पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं। इसके अलावा किसान वेब पोर्टल के माध्यम से भी अपना पंजीकरण करा सकते हैं। पंजीकरण करते समय किसानों द्वारा यह पाया गया कि बाजरे की फसल का पंजीकरण पोर्टल पर स्वीकार नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में कृषि विभाग के अधिकारियों को जानकारी दे दी गई है। अधिकारियों की ओर से बताया गया कि किसी तकनीकी कारण से बाजरे की फसल रिकॉर्ड नहीं हो पाई। जल्द ही बाजरे की फसल का रजिस्ट्रेशन भी शुरू हो जाएगा।

मेरी विरासत योजना के तहत मेरा पानी 25 जून, 2021 तक पंजीकृत करें

वे सभी किसान जो मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें मेरी फसल मेरा ब्योरा वेब पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। यह पंजीकरण केवल 25 जून 2021 तक किया जा सकता है। सभी पंजीकृत किसानों को फसल विविधीकरण योजना के तहत प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। मक्का, कपास, तिल, मूंगफली, सब्जियां आदि वैकल्पिक फसलों के साथ धान की फसल में विविधता लाने के लिए धान क्षेत्र के जिलों को मेरा पानी मेरी विरासत योजना के तहत शामिल किया गया है। वे सभी किसान जिन्होंने पिछले साल मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ उठाया था, वे भी लाभ उठा सकते हैं। इस योजना के इस वर्ष।

इसके अलावा वे सभी किसान जो धान की जगह चारा उगाते हैं या अपने खेत खाली रखते हैं, उन्हें भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। फसल विविधीकरण अपनाने वाले सभी किसानों को ₹7000 प्रति एकड़ की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। यह आर्थिक सहायता सीधे उनके बैंक खाते में भेजी जाएगी। इसके अलावा वैकल्पिक फसलों का फसल बीमा भी किया जाएगा। जिसके लिए प्रीमियम का भुगतान प्रोत्साहन राशि से किया जाएगा। हरियाणा सरकार द्वारा सभी वैकल्पिक फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद का प्रावधान भी इस योजना के अंतर्गत शामिल है।

यह भी पढे: upsc full form

मेरा पानी मेरी विरासत योजना को Meri Fasal Mera Byora Registration योजना से जोड़ा गया

मेरा पानी मेरी विरासत योजना पिछले साल सरकार द्वारा शुरू की गई थी। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य पानी की बचत करना है। इस योजना के तहत उन किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है जो धान के बजाय वैकल्पिक फसल (जो कम पानी की खपत करते हैं) की खेती करते हैं। यह वित्तीय सहायता ₹7000 प्रति एकड़ की दर से प्रदान की जाती है। पिछले वर्ष 96000 एकड़ भूमि पर किसानों द्वारा उन फसलों के लिए खेती की गई थी जो कम पानी का उपयोग करती हैं। इस योजना की सफलता को देखते हुए अब मेरा पानी मेरी विरासत योजना को मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से जोड़ने का निर्णय लिया गया है। जिससे किसानों को लाभ हो सके।

समीक्षा बैठक के माध्यम से दी गई जानकारी

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर ने समीक्षा बैठक के दौरान मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना को मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से जोड़ने की जानकारी दी। इस समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा कृषि विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि इस योजना से संबंधित जानकारी सभी किसानों को उपलब्ध कराई जाए. जिससे पानी की बचत हो सके। मुख्यमंत्री द्वारा यह भी बताया गया कि किसानों को सब्जी, दाल, सोयाबीन, ग्वार आदि की खेती के लिए भी वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी. इस योजना का लाभ लेने के लिए सभी किसानों को अपनी फसल से संबंधित विस्तृत जानकारी देनी होगी. मेरी फसल मेरा बोरा और मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल पर।

यह भी पढे: nasa full form

सत्यापन समय पर किया जाएगा

किसान द्वारा पोर्टल पर फसल की जानकारी अपलोड करने के बाद संबंधित अधिकारी द्वारा जानकारी का सत्यापन किया जाएगा और उसके बाद लाभ की राशि लाभार्थी के खाते में स्थानांतरित कर दी जाएगी। मुख्यमंत्री की ओर से यह भी निर्देश दिए गए कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए लाभार्थी का सत्यापन समय से किया जाए। इसके अलावा उन्होंने यह भी निर्देश दिया कि पूरे राज्य को चार जोन में बांटा जाएगा. प्रत्येक जोन में एक वरिष्ठ अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी। ये वरिष्ठ अधिकारी अपने क्षेत्र के किसानों को सरकार द्वारा दी जाने वाली योजनाओं की जानकारी देंगे. जिससे किसानों को हर योजना का लाभ मिल सके। मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ उन किसानों को भी दिया जाएगा जिन्होंने धान के मौसम में कोई खेती नहीं की है।

मेरा फसल मेरा ब्योरा रबी मार्केटिंग सीजन पंजीकरण

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहूं, सरसों, दाल, सूरजमुखी, चना और जौ बेचने के इच्छुक किसानों के लिए सरकार द्वारा आवेदन खोला गया है। वे सभी किसान जो पोर्टल पर पंजीकरण नहीं करा पाए थे, वे जल्द से जल्द पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा लें। यदि किसानों द्वारा समय पर पंजीकरण नहीं कराया गया तो किसान अपनी फसल को सरकारी मंडियों में नहीं बेच पाएंगे। मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर अब तक 7.80 किसानों का पंजीकरण किया जा चुका है। रबी विपणन सीजन 2021-22 1 अप्रैल 2021 से शुरू हो गया है। रबी विपणन सीजन के पहले दो दिनों में 3574 किसान 2.5 लाख क्विंटल गेहूं बेचने मंडी पहुंचे। यह गेहूं सरकारी एजेंसियों द्वारा खरीदा गया था।

फसल खरीद पर ऑनलाइन भुगतान और शेड्यूलिंग

वे सभी किसान जो अपनी गेहूं की फसल को सरकारी मंडियों के माध्यम से बेचना चाहते हैं, वे भी मेरा फसल मेरा ब्योरा पोर्टल के माध्यम से शेड्यूलिंग कर सकते हैं। शेड्यूलिंग के माध्यम से किसान अपनी इच्छा के अनुसार फसल को मंडी में लाने की तिथि चुन सकता है। इसके अलावा किसान मंडी के संबंधित मंडी सचिव, मार्केट कमेटी या कॉल सेंटर से संपर्क कर भी शेड्यूलिंग कर सकते हैं। यदि किसानों को फसल बेचने के बाद समय पर भुगतान नहीं किया जाता है, तो किसानों को 9% ब्याज दिया जाएगा। बिक्री के 40 घंटे से 72 घंटे के भीतर सरकार द्वारा भुगतान किया जाएगा। इस वर्ष, सभी भुगतान ऑनलाइन मोड के माध्यम से करने की व्यवस्था की गई है।

हरियाणा सरकार ने इस साल 8 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदने का लक्ष्य रखा है। पिछले साल सरकार द्वारा 60.3% या 74 लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई थी। इस खरीद के माध्यम से 7,80,962 किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का भुगतान किया गया। यह न्यूनतम समर्थन मूल्य 14245 करोड़ रुपये था।

यह भी पढे: boat meaning in hindi

Meri Fasal Mera Byora Registration Kaise Check Kare? मेरी फसल मेरा ब्योरा

 

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पर पंजीकरण अनुदान प्राप्त करना अनिवार्य

हरियाणा सरकार की योजनाओं के तहत 11 जनवरी 2021 से यदि किसान कृषि मशीनरी पर सब्सिडी प्राप्त करना चाहते हैं तो उनके लिए मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य है। यह जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण विभाग ने दी है। वर्ष 2020-21 में किसानों ने कृषि मशीनों और मशीनों का भौतिक सत्यापन कराया है और जिन किसानों ने अभी तक अपनी फसल का पंजीकरण नहीं कराया है, वे जल्द से जल्द मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पोर्टल पर अपना पंजीकरण करा लें। यह पंजीकरण प्रक्रिया 11 जनवरी से शुरू हो रही है। पंजीकरण कराने के बाद किसानों को सभी जरूरी दस्तावेज कार्यालय में जमा करना अनिवार्य है। यदि किसान कार्यालय में महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा नहीं करते हैं तो उनका पंजीकरण रद्द कर दिया जाएगा। जिसके बाद कोई दावा स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इस अवसर पर सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक शाखा रावलवास खुर्द द्वारा एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में केवाईसी, यूपीएसी, नेट बैंकिंग आदि विभिन्न प्रकार के ऋणों के बारे में जानकारी प्रदान की गई। साथ ही सरकार द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं जैसे जन धन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, ज्योति बीमा योजना, अटल पेंशन के बारे में भी जानकारी प्रदान की गई। योजना, किसान क्रेडिट कार्ड योजना आदि ताकि सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंच सके। सरकार की ओर से सभी प्रकार की योजनाओं को पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण

हरियाणा सरकार की ओर से कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल की मौजूदगी में एक बैठक का आयोजन किया गया. जिसके माध्यम से यह घोषणा की गई है कि जल्द ही हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया जल्द शुरू होगी। यह बैठक हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा रबी खरीफ सीजन में फसल की खरीद के लिए की जा रही व्यवस्थाओं की जांच के लिए आयोजित की गई थी. सरकार की ओर से सभी फसल संबंधित विभागों और खरीद एजेंसियों को निर्देश दिए गए हैं कि जो भी किसान मंडियों में अपनी फसल बेचने आए हैं, वे आसानी से अपनी फसल बेच सकें, उन्हें अपनी फसल बेचने में कोई परेशानी न हो.

बैठक में बताया गया कि ₹1975 प्रति क्विंटल के एमएसपी पर सरकार 80 लाख मीट्रिक टन गेहूं, ₹4650 प्रति क्विंटल की दर से, सरकार आठ लाख मीट्रिक टन सरसों खरीदेगी, और ₹₹ के एमएसपी पर सरकार खरीदेगी. 5100 प्रति क्विंटल पर सरकार 11 हजार मीट्रिक टन चना खरीदेगी। और ₹5885 प्रति क्विंटल के एमएसपी पर सरकार 17 हजार मीट्रिक टन सूरजमुखी की खरीद करेगी।
बैठक में यह भी बताया गया कि गेहूं की खरीद के लिए 389 मंडियां, सरसों की 71, चना की 11 और सूरजमुखी की 8 मंडियां स्थापित की जाएंगी.

यह भी पढे: hanuman chalisa lyrics

कॉल सेंटर सेटअप

किसानों की मदद के लिए एक कॉल सेंटर भी स्थापित किया जाएगा। जिससे किसान अपनी समस्याएं दर्ज करा सकें और किसानों की समस्याओं का जल्द से जल्द समाधान किया जा सके। बैठक में यह भी बताया गया कि ई-प्रोक्योरमेंट सॉफ्टवेयर स्थापित किया जाएगा। पेमेंट मॉड्यूल भी ई-प्रोक्योरमेंट का हिस्सा होगा। इसके लिए कई बैंकों से संपर्क किया गया है। जब भी कोई भुगतान किया जाएगा, किसानों को एसएमएस के माध्यम से भुगतान की सूचना दी जाएगी। यदि किसानों को भुगतान की जानकारी प्राप्त करने में कोई समस्या आती है, तो खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा एक कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा। जिसके माध्यम से भुगतान संबंधी समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

हरियाणा मेरी फसल मेरा विवरण नई घोषणा

मेरी फसल मेरा ब्योरा के तहत हरियाणा सरकार ने हरियाणा के बाहर के किसानों के लिए धान की खरीद के लिए मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण खोला है। अब इस योजना के तहत अन्य राज्यों के किसान भी धान की फसल बेच सकेंगे। उपार्जन सीजन के दौरान मंडियों में धान पहुंच गया है, जिसमें से सबसे ज्यादा बिकी है। हाल ही में हरियाणा सरकार की ओर से रजिस्ट्रेशन की तारीख में भी बदलाव किया गया है। हरियाणा सरकार ने रजिस्ट्रेशन की तारीख बढ़ा दी है। कोई भी किसान अब इस योजना के तहत आवेदन कर सकता है और इस योजना का लाभ उठा सकता है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल 2021

यह पोर्टल कृषि और किसान कल्याण विभागों को एक मंच पर लाया है। इसके साथ ही राजस्व, खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभागों को भी इस मंच पर लाया गया है। इस ऑनलाइन पोर्टल पर किसानों को वास्तविक समय के आधार पर बुवाई, कटाई के मौसम और बाजार से संबंधित जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी। किसान मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल 2021 के माध्यम से अपनी फसल का विवरण ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं। आज हम हरियाणा के किसानों के लिए एक योजना लाए हैं, आज हम आपको इस लेख के माध्यम से योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं।

यह भी पढे: गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है

मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा पंजीकरण
राज्य के इच्छुक लाभार्थी जो मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के तहत किसान पंजीकरण, फसल पंजीकरण और खेत विवरण दर्ज करना चाहते हैं, तो वे योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना 2021 के तहत पात्र किसानों को बोई जाने वाली फसलों और विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने की जानकारी प्रदान की जाएगी। हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल किसानों की बेहतरी सुनिश्चित करने का काम करेगा। हरियाणा सरकार की कई योजनाओं का लाभ किसानों को सीधे मिलेगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना का उद्देश्य
इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को सभी सरकारी सुविधाएं एक ही स्थान पर उपलब्ध कराना और उनकी समस्याओं का समाधान करना है. कृषि से संबंधित समय पर जानकारी उपलब्ध कराना। इस योजना के माध्यम से समय पर ऑनलाइन पोर्टल पर भोजन, बीज, ऋण और कृषि उपकरणों की सब्सिडी प्रदान करना। इस योजना के माध्यम से बुवाई-कटाई के समय और बाजार से संबंधित जानकारी प्रदान करना। प्राकृतिक आपदा-आपदा के दौरान सही समय पर सहायता प्रदान करना।

हरियाणा मेरी फसल मेरा विवरण 2021 के लाभ

इस ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल क्षति के कारण मुआवजा।
सभी सरकारी सुविधाएं एक ही स्थान पर उपलब्ध कराने और किसानों की समस्या का समाधान करने का यह अनूठा प्रयास है।
इस योजना के तहत, सरकार विभिन्न योजनाओं के तहत किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है।
भोजन, बीज, ऋण और कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध कराना।
कृषि से संबंधित समय पर जानकारी उपलब्ध कराना।
फसल की बुवाई-कटाई के समय एवं बाजार से संबंधित जानकारी प्रदान करना।
मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर किसानों को उन सभी सरकारी सेवाओं और योजनाओं की जानकारी मिलेगी जो हरियाणा सरकार ने उनके लिए जारी की हैं।
बोई जाने वाली फसलों की जानकारी प्राप्त करने और विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र किसानों तक पहुंचाने के लिए राज्य सरकार ने राज्य स्तरीय फसल ई-सुचना नामक एक वेब पोर्टल लॉन्च किया है।
कार्यरत वीएलई को ऑनलाइन पंजीकृत सभी किसानों की फसलों का विवरण मिलेगा।
वीएलई को इस काम के लिए राज्य सरकार द्वारा सीधे उनके खाते में भुगतान किया जाएगा।
मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना 2021 दस्तावेज (पात्रता)
आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना चाहिए।
आवेदक का आधार कार्ड
पते का सबूत
पहचान पत्र
मोबाइल नंबर
जमीन के कागजात
पासपोर्ट साइज फोटो
किसान पंजीकरण के लिए दिशानिर्देश
आधार कार्ड नंबर 12 अंकों का होना चाहिए।
मोबाइल नंबर 10 अंकों का होना चाहिए।
फसल संबंधी जानकारी इस पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस के जरिए भेजी जाएगी।
किसान पंजीकरण के समय निम्नलिखित दस्तावेज अपने पास रखें
आधार कार्ड
जमीन की जानकारी के लिए खसरा नंबर देखकर अपने मुरब्बा नंबर को कॉपी/फराद की कॉपी से भरें।
फसल का नाम/किस्म/बुवाई का समय
बैंक पासबुक कॉपी

Meri Fasal Mera Byora Registration Kaise Check Kare? मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना 2021 में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

राज्य के इच्छुक लाभार्थी जो मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना 2021 के तहत आवेदन करना चाहते हैं, वे नीचे दिए गए तरीके का पालन करें।

सबसे पहले आवेदक को योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।

इस होम पेज पर आपको “Registration (क्लिक)” का विकल्प दिखाई देगा।
मेरी फसल मेरा ब्योरा
आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा। इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है। इसके बाद आपको कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा।
मेरी फसल मेरा विवरण ऑनलाइन पंजीकरण
फिर आपसे कुछ जानकारी मांगी जाएगी, इस विवरण में आपको खाली बॉक्स में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर, परिवार की कोई भी एक आईडी जो भी आपके पास उपलब्ध हो उसे भरना होगा।
फिर आपको सर्च बटन पर क्लिक करना है, क्लिक करने के बाद आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा और अगले पेज पर आपको उस ओटीपी को भरना होगा। इसके बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में आपके पास चार चरण होंगे, जिसमें पहला चरण किसान पंजीकरण का होगा। इस फॉर्म में आपको खुद से जुड़ी सारी जानकारी भरनी होगी।
उसके बाद दूसरा चरण आपके सामने फसल विवरण आएगा जिसमें आपको अपनी फसल से संबंधित जानकारी भरनी होगी।
फिर तीसरा स्टेप बैंक डिटेल्स आएगा जिसमें आपको अपने बैंक अकाउंट से जुड़ी सारी जानकारी भरनी होगी। इसके बाद अंतिम और चौथा चरण मंडी/आढ़ती का विवरण भरना होगा।
सारी जानकारी भरने के बाद आपको अंत में सबमिट बटन पर क्लिक करना है। इस तरह आपका रजिस्ट्रेशन पूरा हो जाएगा।
मंडी सचिव लॉगिन प्रक्रिया
सबसे पहले आपको मेरी फसल, मेरी डिटेल, हरियाणा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
होम पेज पर आपको लॉगिन मंडी सचिव के लिंक पर क्लिक करना है।
बाजार सचिव लॉगिन
इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना जिला और बाजार केंद्र चुनना होगा।
अब आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है।
इसके बाद आपको एंटर बटन पर क्लिक करना है।
इस तरह आप लॉग इन कर पाएंगे।
आवेदन पत्र का प्रिंट कैसे लें?

राज्य के इच्छुक लाभार्थी जो अपने द्वारा बनाए गए आवेदन पत्र को प्रिंट करना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए चरणों का पालन करें।

सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
इस होम पेज पर आपको रजिस्टर करने के लिए एक लिंक दिखाई देगा, आपको लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
इस पेज पर आपको ऊपर Print Form का ऑप्शन दिखाई देगा आपको इस लिंक पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जाएगा।
हरियाणा मेरी फसल मेरा विवरण
इसके बाद इस पेज पर आपको पूछी गई सभी जानकारियां जैसे नाम, मोबाइल नंबर, बैंक अकाउंट नंबर आदि भरना है। सारी जानकारी भरने के बाद आपको प्रिंट बटन पर क्लिक करना है।
इसके बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुल जाएगा, यहां से आप आवेदन पत्र का प्रिंट ले सकते हैं।
सीमांत किसान पंजीकरण (केवल धान के लिए)
सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
इस होम पेज पर आपको सीमांत किसान पंजीकरण (केवल धान के लिए) का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
मेरी फसल मेरा विवरण
इस पेज पर आपको मोबाइल नंबर डालना है। कैप्चा कोड आदि भरना होगा। इसके बाद आपको कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
आपको इस आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी भरनी है। सारी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है।
फसल को बाजार में लाने का अनुमानित सप्ताह चुनें?
सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
इस होम पेज पर आपको फसल को बाजार में लाने के स्वीकृत सप्ताह को चुनने का विकल्प दिखाई देगा, आपको इस विकल्प पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
मेरी फसल मेरा विवरण
इस पेज पर किसानों को अपना मोबाइल नंबर भरना होगा। मोबाइल नंबर भरने के बाद आपको कैप्चा कोड भरना है और कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना है।
इसके बाद फसल को बाजार में लाने का स्वीकृत हफ्ता आ जाएगा, आप दोबारा चुन सकते हैं।
मंडी वार गेट पास सूची की जांच कैसे करें?
सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
इस होम पेज पर आपको मंडी वार गेट पास लिस्ट का लिंक दिखाई देगा। आपको इस लिंक पर क्लिक करना है। लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
मेरी फसल मेरा विवरण
इस पेज पर आपको पूछी गई सभी जानकारी जैसे जिला, फसल, मंडी, तिथि आदि का चयन करना है। सभी जानकारी भरने के बाद आपको व्यू लिस्ट के बटन पर क्लिक करना है। इसके बाद आपके सामने मंडी वार गेट पास लिस्ट खुल जाएगी।

यह भी पढे: goldfish ka scientific naam kya hai

बैंक विवरण कैसे बदलें?
सबसे पहले आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगाइस होम पेज पर आपको बैंक विवरण बदलने का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और फिर कैप्चा कोड डालना है। इसके बाद आपको कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा। बटन पर क्लिक करने के बाद आप अपना बैंक विवरण बदल सकते हैं।
गेट पास की तारीख बदलें?
सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
इस होम पेज पर आपको गेट पास की तारीख बदलने का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना है। ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जाएगा।
इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर डालना है और फिर कैप्चा कोड डालना है। इसके बाद आपको कंटिन्यू बटन पर क्लिक करना होगा। बटन पर क्लिक करने के बाद आप गेट पास की तारीख बदल सकते हैं।
मेरी फसल मेरा ब्योरा हेल्पलाइन नंबर
हरियाणा सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया गया है, इस हेल्पलाइन नंबर की मदद से राज्य के किसान योजना से संबंधित सभी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं और यदि कोई समस्या है तो वे भी कर सकते हैं. इसे हटा दो। यह एक टोल फ्री नंबर है।

  • Helpline Number – 18001802060
  • Toll-Free Number – 18001802117

 

यह भी पढे: ok google gold fish ka scientific naam kya hai

 

यह भी पढे:

Previous articleभारत बायोटेक ने कोवैक्सिन चरण 3 परीक्षण डेटा प्रस्तुत किया
Next articleMi Watch Revolve Active Review in Hindi