BPO Full Form

489
BPO Full Form क्या है bpo का meaning क्या होता है, full form of bpo, bpo full form in hindi, what is bpobpo means
BPO Full Form क्या है bpo का meaning क्या होता है

BPO Full Form क्या है? bpo full form in hindi क्या होता है? what is the full form of bpo

अगर आप जानना चाहते है की BPO Full Form क्या है और bpo ka Full Form और meaning क्या होता है? what is the full form of bpo? तो आप सही जगह पे आए है। यहा पे हम आपको bpo full form और bpo से लगती सारी जानकारी हिंदी में प्रदान करेंगे। BPO Full Form Business Process Outsourcing होता है। BPO full form हिंदी में बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग होता है।

BPO means? What is BPO? BPO आखिर है क्या?

BPO means जिसका full form Business Process Outsourcing होता है, यह सेवाओं या व्यावसायिक प्रक्रियाओं के एक बाहरी प्रदाता के लिए एक कंपनी का अनुबंध है। यह एक लागत-बचत उपाय है जो कंपनियों को गैर-मुख्य कार्यों को outsource करने की अनुमति देता है।

इसमें accounting, data entry और human resources (मानव संसाधन) जैसे back-office या manufacturing कार्य भी शामिल हो सकते हैं। इसमें ग्राहक सेवा (customer care) और तकनीकी सहायता (technical support) जैसी front-end services (सेवाएं) भी शामिल हैं। इस प्रकार, बीपीओ सेवाओं (BPO services) को बैक ऑफिस आउटसोर्सिंग (back office outsourcing) और फ्रंट ऑफिस आउटसोर्सिंग (front office outsourcing) में विभाजित किया जा सकता है।

BPO Full Form what is the full form of bpo bpo full form in hindi

BPO के प्रकार (Types of bpo)

तीन प्रकार के बीपीओ विकल्प हैं जो नीचे दिए गए हैं:

  1. ऑनशोर आउटसोर्सिंग (Onshore outsourcing): इसे घरेलू आउटसोर्सिंग (domestic outsourcing) के रूप में भी जाना जाता है। यह उसी देश के भीतर किसी से बीपीओ सेवाएं (BPO services) प्राप्त करने को संदर्भित करता है।
  2. नियरशोर आउटसोर्सिंग (Nearshore outsourcing): यह पड़ोसी देशों में किसी से बीपीओ सेवाएं (BPO services) प्राप्त करने को संदर्भित करता है।
  3. अपतटीय आउटसोर्सिंग (Offshore outsourcing): यह पड़ोसी देशों को छोड़कर किसी अन्य देश में बाहरी संगठन (organization ) से बीपीओ सेवाएं (BPO services) प्राप्त करने को संदर्भित करता है।

BPO Services की kab जरूर पड़ती है?

सार्थकता और लागत में कमी (cost reduction) प्रमुख और सबसे महत्वपूर्ण कारण जिसके लिए आउटसोर्सिंग (outsourcing) करने की कोई भी company या business मे जरूर पड़ती है। यह उन कार्यों की लागत को कम करता है जिनकी कंपनी को आवश्यकता होती है।

 

यह भी पढे:

 

Previous articleAOD Full Form Kya hota hai? AOD Meaning In Hindi
Next articleDjPunjab: new punjabi song download mp3 की एक अवैध website