त्रयका ताड़ासन से शवासन: गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद योगासन | स्वास्थ्य समाचार

571
त्रयका ताड़ासन से शवासन: गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद योगासन |  स्वास्थ्य समाचार

गर्भावस्था एक महिला के जीवन के सबसे खूबसूरत अनुभवों में से एक है। यह एक ऐसा समय है जब एक महिला विभिन्न भावनाओं से अभिभूत होती है – खुशी, उत्तेजना, चिंता – सभी एक ही समय में। इस चरण के दौरान, शरीर में होने वाले हार्मोनल परिवर्तनों के कारण, एक महिला को बार-बार मिजाज का अनुभव भी हो सकता है। थकान और बेचैनी भी होने वाले शारीरिक परिवर्तनों के कारण स्थायी साथी बन जाते हैं। हिंदी में yoga

योग उन महिलाओं को समग्र लाभ प्रदान करता है जो उन्हें शरीर को स्वस्थ और दिमाग, शांत और तनावमुक्त रखने में मदद करती हैं। योग महिलाओं को प्रसव और प्रसव के लिए तैयार करता है और साथ ही उन्हें प्रसव के बाद बेहतर तरीके से ठीक करने में मदद करता है। जिंदल नेचरक्योर इंस्टीट्यूट के मुख्य योग अधिकारी राजीव राजेश ने पांच योग आसन साझा किए हैं जो गर्भवती महिलाओं को कई लाभ पहुंचा सकते हैं। 

त्रिक ताड़ासन

कैसे करना है: सीधे खड़े हो जाएं और पैरों को थोड़ा चौड़ा करके रखें। उंगलियों को इंटरलॉक करें, हाथों को ऊपर उठाएं और हथेलियों को ऊपर की ओर मोड़ें। गहरी साँस लेना। सांस छोड़ते हुए कमर से दाहिनी ओर झुकें, कोहनियों को सीधा रखें और पैरों को जमीन पर मजबूती से टिकाएं। आसन को पकड़ें और सामान्य रूप से सांस लें। पक्षों पर खिंचाव महसूस करें। सांस भरते हुए धीरे से मूल स्थिति में आ जाएं। दूसरी तरफ दोहराएं।

लाभ: यह आसन कमर की रेखा को फैलाता है और रीढ़ की हड्डी के लचीलेपन में सुधार करता है। यह पीठ दर्द और कब्ज में राहत देता है, जो गर्भावस्था के दौरान एक आम समस्या है।

विरभद्रासन

कैसे करना है: सीधे खड़े हो जाएं और पैरों को 3-4 फीट अलग फैलाएं। दाहिने पैर को 90 डिग्री बाहर की ओर और बाएं पैर को 15e अंदर की ओर मोड़ें। सांस भरते हुए बाजुओं को बगल में उठाएं ताकि वे जमीन के समानांतर और कंधों के अनुरूप हों। साँस छोड़ते हुए, दाहिने घुटने को मोड़ें और अपनी टकटकी को दाईं ओर मोड़ें। श्रोणि को धीरे से नीचे की ओर धकेलें और सामान्य श्वास के साथ इस स्थिति को बनाए रखें। सांस लेते हुए धीरे से ऊपर आएं और सांस छोड़ते हुए हाथों को साइड में लाएं। दूसरी तरफ दोहराएं।

लाभ: यह संतुलन विकसित करने में मदद करता है, बाहों और कंधों से तनाव मुक्त करता है और मन और शरीर को आराम देता है। यह पीठ के निचले हिस्से, पैरों और बाहों को मजबूत करने के लिए भी एक बेहतरीन आसन है।

मार्जारियासन

कैसे करना है: घुटनों के बल खड़े हो जाएं और उन्हें थोड़ा अलग रखें। आगे की ओर झुकें और हथेलियों को कंधों के नीचे और घुटनों के सामने जमीन पर रखें। सांस भरते हुए सिर को ऊपर उठाएं और पीठ के निचले हिस्से को नीचे की ओर धकेलें। सांस छोड़ते हुए पीठ को ऊपर उठाएं और सिर को नीचे झुकाएं। अभ्यास को दस बार दोहराएं।

लाभ: यह आसन रीढ़ को फैलाता है और लचीला बनाता है। यह गर्भावस्था के दौरान अधिक वजन का समर्थन करने में मदद करता है। यह पेट के अंगों को भी टोन करता है और रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।

बधाकोणासन

कैसे करना है: पैरों को आगे की ओर फैलाकर सीधे बैठ जाएं। घुटनों को मोड़ें और पैरों के तलवों को आपस में मिला लें। उंगलियों को इंटरलॉक करें और पैरों को मजबूती से पकड़ें। एड़ियों को अपने जननांगों के करीब लाएं। गहरी साँस लें। कोहनियों को जाँघों पर रखें। साँस छोड़ते हुए, जांघों और घुटनों को धीरे से फर्श की ओर दबाएं और फिर इसे ऊपर की ओर जाने दें।

लाभ: यह आसन भीतरी जांघों और श्रोणि क्षेत्र को अच्छा खिंचाव देता है। यह श्रोणि और कूल्हे क्षेत्र के लचीलेपन और ताकत में सुधार करने में मदद करता है। यदि नियमित रूप से अभ्यास किया जाए, तो यह सुगम प्रसव की सुविधा प्रदान करेगा।

शवासन

कैसे करना है: पीठ के बल सीधे लेट जाएं। पैरों को थोड़ा और हाथों को शरीर से थोड़ा दूर रखें। हथेलियों को ऊपर कर लें। धीरे से आंखें बंद करें और शरीर को पूरी तरह से आराम दें। धीरे-धीरे और धीरे-धीरे सांस लेते रहें। मन में कोई भी विचार न आने दें। इस स्थिति में 10 मिनट तक रहें।

लाभ: आसन एक गहरी, ध्यानपूर्ण स्थिति प्राप्त करने में मदद करता है जो तनाव से राहत देते हुए ऊतकों और कोशिकाओं की मरम्मत को बढ़ावा देता है। रक्तचाप, अनिद्रा और चिंता को कम करने के लिए भी यह एक अच्छा अभ्यास है।

अंत में, सलाह का एक शब्द: गर्भवती महिलाओं के लिए यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि उन्हें उन आसनों में शामिल नहीं होना चाहिए जिनके लिए उन्हें पेट के बल लेटने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा, उल्टे और आगे झुकने वाले आसनों से बचना चाहिए क्योंकि वे पेट पर दबाव डाल सकते हैं। योगासन हमेशा किसी विशेषज्ञ की देखरेख में ही करें।

 

Previous articleबोरिस जॉनसन ने घोषणा की कि इंग्लैंड 19 जुलाई तक अधिकांश COVID प्रतिबंध हटा देगा
Next articleमाइक्रोसॉफ्ट विंडोज 11 में एंड्रॉइड ऐप ला रहा है